Quiz: स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में किस शहर को प्रथम स्थान


Quiz: स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में किस शहर को प्रथम स्थान

2019-04-19 00:55:10


1. किस राज्य ने हाल ही में अध्यापकों के प्रशिक्षण के लिए “नोतून दिशा” पहल की शुरुआत की?
उत्तर – त्रिपुरा
त्रिपुरा सरकार ने हाल ही में एक महीने का – नोतून दिशा (नयी दिशा) कार्यक्रम लांच किया गया है, यह कार्यक्रम स्कूली अध्यापकों के प्रशिक्षण के लिए लांच किया गया गया है। इस कार्यक्रम के तहत त्रिपुरा सरकार 800 स्कूली अध्यापकों को लैपटॉप प्रदान करेगी। इसका उद्देश्य विभिन्न विधाओं में छात्रों के विकास का मूल्यांकन करना है। इसलिए 800 अध्यापकों को प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा, उन्हें यह प्रशिक्षण चुने गये NGO, सोसाइटीज तथा शैक्षणिक संस्थानों प्रदान करेंगे। फरवरी, 2019 में राज्य सरकार ने तीसरी तथा आठवीं कक्षा के छात्रों की शिक्षा स्थिति का मूल्यांकन करने के लिए एक सर्वेक्षण किया था। इस सर्वेक्षण से ज़ाहिर हुए की पांचवीं कक्षा के 60% छात्र (51,599 छात्र) दूसरी कक्षा की बंगाली भाषा की पुस्तक नहीं पढ़ पाते। इसके अलावा जिन छात्रों का सर्वेक्षण किया गया उनमे से 46% छात्र गणित में घटा नहीं पाते और 81% छात्र गणित में भाग से सम्बंधित सवालों का समाधान नहीं कर पाते। इसलिए नोतून दिशा के छात्रों को अधिक कुशल बनाया जायेगा ताकि वे तीसरे से आठवीं कक्षा तक सभी विषयों को समझ सकें।
2. हाल ही में सुर्ख़ियों में रहा हैलाकंडी जिला किस राज्य में स्थित है?
उत्तर – असम
हाल ही में नीति आयोग ने डेल्टा रैंकिंग में रिपोर्ट जारी की, इस रिपोर्ट में देश के 112 आकांक्षी जिलों में असम के हैलाकंडी जिले को पहला स्थान मिला। इस सूची में छत्तीसगढ़ का कोंडागांव जिला दूसरे स्थान पर है। गौरतलब है कि नवम्बर-दिसम्बर 2018 तथा जनवरी 2019 के दौरान हैलाकंडी जिले ने काफी प्रगति की और यह 52वें स्थान से सीधा पहले स्थान पर पहुँच गया है। पहला स्थान प्राप्त करने के लिए हैलाकंडी जिले को अतिरिक्त 10 करोड़ रुपये आबंटित किये जायेंगे।
3. स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में किस शहर को प्रथम स्थान मिला?
उत्तर – इंदौर
मध्य प्रदेश का इंदौर शहर लगातार तीसरे वर्ष “स्वच्छ सर्वेक्षण 2019” में पहले स्थान पर रहा। सबसे स्वच्छ शहरों की सूची में दूसरे स्थान पर छत्तीसगढ़ का अंबिकापुर तथा तीसरे स्थान पर कर्नाटक का मैसूर रहा। हाल ही में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नई दिल्ली में स्वच्छता सर्वेक्षण पुरस्कार 2019 प्रदान किये गये। इस सर्वेक्षण में टॉप रैंकिंग प्राप्त करने वाले शहरों को राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की प्रतिमा इनामस्वरुप प्रदान की गयी। प्रति वर्ष स्वच्छ भारत अभियान के तहत देश में शहरों व नगरों का मूल्यांकन उनकी साफ-सफाई के स्तर के आधार पर किया जाता है। 2019 के सर्वेक्षण में भोपाल को सबसे स्वच्छ राजधानी शहर चुना गया। 3 लाख से 1 मिलियन जनसँख्या वाली श्रेणी में उज्जैन को “क्लीनेस्ट मीडियम सिटी” का पुरस्कार दिया गया। उत्तराखंड के गौचर को “बेस्ट गंगा टाउन’ चुना गया। नई दिल्ली म्युनिसिपल कारपोरेशन को सबसे स्वच्छ स्मार्ट सिटी का पुरस्कार प्रदान किया गया। अहमदबाद को “क्लीनेस्ट बिग” सिटी” का पुरस्कार दिया गया। रायपुर को “फास्टेस्ट मूविंग बिग सिटी” का पुरस्कार दिया गया।
4. हाल ही में सुर्ख़ियों में रहा बेरेशीट स्पेसक्राफ्ट किस देश से सम्बंधित है?
उत्तर – इजराइल
स्पेस एक्स के फाल्कन 9 राकेट ने SpaceIL के लूनर लैंडर के साथ फ्लोरिडा से उड़ान भरी। यदि यह मिशन सफल रहता है तो इजराइल रूस, अमेरिका और चीन जैसे देशों की सूची में शामिल हो जायेगा जिन्होंने चन्द्रमा की सतह पर सफल नियंत्रित लैंडिंग की है।
इजराइल का चन्द्रमा मिशन
• गौरतलब है कि इस मिशन की फंडिंग दान की गयी राशि से की गयी है, यह विश्व का पहला निजी लूनर लैंडर मिशन है। इस प्रोजेक्ट की लागत 100 (लगभग 700 करोड़ रुपये) है।
• स्पेसक्राफ्ट का नाम बेरेशीट रखा गया है, इसका भार 585 किलोग्राम है।
• यह स्पेसक्राफ्ट चन्द्रमा पर पहुँच कर वहां के चट्टानी धरातल की तस्वीरें भेजेगा तथा चन्द्रमा के चुम्बकीय क्षेत्र पर प्रयोग भी करेगा।
• हिब्रू भाषा में बाइबिल के पहले शब्द “शुरुआत में” के सन्दर्भ में इस स्पेसक्राफ्ट का नाम बेरेशीट रखा गया है।
चन्द्रमा पर लैंडिंग
• सबसे पहले सोवियत संघ ने लूना 2 के साथ चन्द्रमा पर 1959 में लैंडिंग की थी।
• इसके वर्ष बाद अमेरिका ने रेंजर 4 को चन्द्रमा की सतह पर उतारा था।
• लूना 2 और रेंजर 4 हार्ड लैंडिंग थीं अर्थात इन दोनों स्पेसक्राफ्ट को चन्द्रमा की सतह पर टकराया गया था।
• अमेरिका और सोवियत संघ ने 1966 में चन्द्रमा पर पहली बार नियंत्रित सॉफ्ट लैंडिंग की।
• चन्द्रमा पर सॉफ्ट लैंडिंग करने वाला तीसरा देश चीन है, चीन ने 2013 में चंगेई 3 को चन्द्रमा की सतह पर लैंड किया था।
SpaceIL
SpaceIL एक गैर-लाभकारी कंपनी है, इसकी स्थापना आठ वर्ष पहले गूगल लूनर एक्स प्राइज में हिस्सा लेने के लिए की गयी थी। गूगल लूनर एक्स प्राइज प्रतिस्पर्धा में चन्द्रमा की सतह से हाई डेफिनिशन विडियो भेजना, लाइव ट्रांसमिशन, किसी भी दिशा में 500 मीटर घूमने वाले निजी स्पेसक्राफ्ट के निर्माण शामिल था। परन्तु 2018 में इस कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया था क्योंकि बची हुई पांच टीमों में से कोई भी टीम मार्च तक की डेडलाइन को पूरा नहीं कर सकी।
5. भारत में ग्रामीण आय को बढ़ाने के लिए किस अंतर्राष्ट्रीय संगठन ने NRETP के लिए 250 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं?
उत्तर –विश्व बैंक
हाल ही विश्व बैंक तथा भारत सरकार ने “राष्ट्रीय ग्रामीण आर्थिक परिवतन परियोजना” (NRETP) के लिए 250 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये। “राष्ट्रीय ग्रामीण आर्थिक परिवतन परियोजना” के द्वारा भारत के 13 राज्यों में ग्रामीण आय में वृद्धि करना है। इस ऋण की सहायता से ग्रामीण महिलाओं को कृषिगत तथा गैर-कृषिगत उत्पादों के उद्यम विकसित करने में सहायता मिलेगी। इस ऋण का ग्रेस पीरियड 5 वर्ष तथा फाइनल मैच्योरिटी 20 वर्ष है। NRETP का उद्देश्य महिला आधारित कृषिगत तथा गैर-कृषिगत उद्योगों को बढ़ावा देना है। इसकी सहायता से ग्रामीण महिलाओं को वित्त, बाज़ार तथा नेटवर्क इत्यादि की सुविधा प्रदान की जायेगी, इससे रोज़गार सृजन में भी काफी वृद्धि होगी। NRETP में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका परियोजना (NRLP) के लिए अतिरिक्त 500 मिलिओं डॉलर की व्यवस्था है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका परियोजना को विश्व बैंक ने 2011 में मंज़ूरी दी थी, इसका क्रियान्वयन वर्तमान में 13 राज्यों, 162 जिलों तथा 575 खण्डों में किया जा रहा है। इसकी सहायता से अब तक 8.8 महिलाओं को स्वयं सहायता समूहों में शामिल किया गया है।
6. हाल ही में “आज़ादी के दीवाने” संग्रहालय का उद्घाटन किस शहर में किया गया?
उत्तर – नई दिल्ली
हाल में दिल्ली में लाल किले में “आज़ादी के दीवाने” संग्रहालय का उद्घाटन किया गया, यह संग्रहालय देश की स्वतंत्रता में योगदान देने वाले शूरवीरों को समर्पित है।
आज़ादी के दीवाने
• इस संग्रहालय का निर्माण भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा किया गया है।
• इस संग्रहालय के द्वारा उन सैंकड़ों स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजली दी गयी है जिनके बारे में लोग काफी कम जानते हैं।
• इस संग्रहालय में उन छुपे हुए नायकों के स्वतंत्रता में योगदान को वर्णित किया गया है।
• इस संग्रहालय में बहादुर महिलाओं व बच्चों के बलिदानों के प्रति सम्मान प्रकट किया गया है।
• इस संग्रहालय क्रांति मंदिर श्रृंखला का हिस्सा है, इसका उद्देश्य युवा पीढ़ी को प्रेरित करना है और उन्हें आज़ादी के महत्व का अहसास करवाना है।
• “आज़ादी के दीवाने” संग्रहालय एक अत्याधुनिक संग्रहालय है, यह एक डिजिटाइज्ड व इंटरैक्टिव संग्रहालय है।
क्रांति मंदिर श्रृंखला
क्रांति मंदिर श्रृंखला के द्वारा भारत के महान स्वतंत्रता सेनानियों के शौर्य व अदम्य साहस को सम्मान दिया जा रहा है। क्रांति मंदिर श्रृंखला के अन्य संग्रहालय इस प्रकार हैं : नेताजी सुभाष चन्द्र बोस संग्रहालय, याद-ए-जलियाँ संग्रहालय तथा 1857-भारत की स्वतंत्रता की पहली लड़ाई पर संग्राहलय। इनका उद्घाटन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर किया था।
7. हाल ही में शेख अहमद अल-फहाद अल –सबाह को पुनः एशियाई ओलिंपिक समिति का अध्यक्ष चुना गया, वे किस देश से हैं?
उत्तर – कुवैत
शेख अहमद अल-फहाद अल-सबाह एक कुवैती राजनेता तथा खेल प्रशासक है, उन्हें एशियाई ओलिंपिक समिति का अध्यक्ष पुनः चुना गया है। वे 2024 तक इस पद पर बने रहेंगे। एशियाई ओलिंपिक समित में 45 राष्ट्रीय ओलिंपिक समितियां शामिल है। इसका मुख्यालय कुवैत सिटी में स्थित है।
8. भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण ने देश भर में कितने जीपीएस स्टेशनों की स्थापना की?
उत्तर – 22
भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण ने देश भर में 22 जीपीएस स्टेशनों की स्थापना की। इन स्टेशनों का उपयोग भूकंप की दृष्टि से खतरनाक क्षेत्रों की पहचान करने के लिए किया जाएगा, इससे मानचित्रण गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा।
भूमिसंवाद : खनन मंत्रालय ने भू-वैज्ञानिकों, विश्वविद्यालय तथा महाविद्यालय के छात्रों के बीच संवाद के लिए भूमिसंवाद नामक एप्प लांच की।
जीपीएस स्टेशन
22 जीपीएस स्टेशनों की स्थापना निम्नलिखित स्थानों पर की गयी है : कलकत्ता, तिरुवनंतपुरम, जयपुर, पुणे, देहरादून, चेन्नई, जबलपुर, भुबनेश्वर, पटना, रायपुर, भोपाल, चंडीगढ़, गांधीनगर, विशाखापट्नम, अगरतला, ईटानगर मंगन, जम्मू, लखनऊ, नागपुर, शिलोंग तथा लिटिल अंदमान।
इसके अतिरिक्त 13 अन्य जीपीएस स्टेशनों की स्थापना अग्रलिखित स्थानों पर की जायेगी : आइजोल, फरीदाबाद, उत्तरकाशी, पिथोरागढ़, कूचबिहार, ज़वर, नार्थ अंडमान, मिडिल अंडमान, साउथ अंडमान, रांची, मंगलोर, इम्फाल तथा चित्रदुर्गा।
भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण
भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण की स्थापना 1851 में की गयी थी, शुरू में इसकी स्थापना रेलवे के लिए कोयले के भंडार खोजने के लिए की गयी थी। वर्षों के पश्चात् अब GSI भूविज्ञान सूचना का एक विशाल भंडार बन गया है। यह एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर के भू-विज्ञानिक संगठन के रूप में उभर कर आया है।
यह संगठन केन्द्रीय खनन मंत्रालय के साथ कार्य करता है। यह राष्ट्रीय भू-विज्ञानिक सूचना का एकत्रीकरण तथा अपडेट करने का कार्य करता है। यह ज़मीनी सर्वेक्षण, हवाई व समुद्री सर्वेक्षण के द्वारा खनिज संसाधन का आकलन करता है। इसके अतिरिक्त यह भूकंप गतिविधियों का अध्ययन, प्राकृतिक आपदा का अध्ययन, हिमखंड विज्ञान इत्यादि विभिन्न विषयों पर अध्ययन करता है।
9. हाल ही में राष्ट्रीय अभिलेखागार का महानिदेशक किसे नियुक्त किया गया?
उत्तर – पी.वी. रमेश
कैबिनेट नियुक्ति समिति ने हाल ही पी.वी. रमेश को राष्ट्रीय अभिलेखागार का महानिदेशक चुना गया। वर्तमान वे ग्रामीण विद्युतीकरण निगम के चेयरमैन व मैनेजिंग डायरेक्टर हैं।
राष्ट्रीय अभिलेखागार
भारतीय अभिलेखागार की स्थापना में सैंडमैन की रिपोर्ट काफी महत्वपूर्ण थी, वे सिविल ऑडिटर थे, उन्होंने महत्वपूर्ण दस्तावेजों को “ग्रैंड सेंट्रल आर्काइव” में स्थानांतरित करने के महत्त्व पर बल दिया था। 1889 में एलफिंस्टोन कॉलेज, बॉम्बे के प्रोफेसर से जी. डब्ल्यू. फारेस्ट को भारत सरकार के विदेश विभाग के रिकॉर्ड की छान-बीन करने का कार्य सौंपा गया था। उन्होंने ईस्ट इंडिया कंपनी के प्रशासन के सभी रिकार्ड्स को केन्द्रीय भंडार में स्थानांतरित अर्ने की अनुशंसा की थी। इसके पश्चात् 11 मार्च, 1891 को कलकत्ता में इम्पीरियल सेक्रेटेरिएट भवन में इम्पीरियल रिकार्ड्स डिपार्टमेंट (IRD) की स्थापना की गयी थी।
1911 में इम्पीरियल रिकार्ड्स डिपार्टमेंट को दिल्ली स्थानांतरित किया गया। स्वतंत्रता के बाद भारत सरकार ने इसका नाम बदलकर राष्ट्रीय अभिलेखागार कर दिया। वर्तमान में राष्ट्रीय अभिलेखागार को संस्कृति मंत्रालय से जोड़ा गया है। इसके क्षेत्रीय कार्यालय भोपाल में स्थित है, इसके तीन रिकॉर्ड केंद्र जयपुर, पुदुचेरी तथा भुबनेश्वर में स्थित है।
10. हाल ही में किन देशों ने “न्यू डेल्ही डिक्लेरेशन ऑन एशियन राइनोज 2019” पर हस्ताक्षर किये?
उत्तर –भारत, भूटान, नेपाल, इंडोनेशिया और मलेशिया
हाल ही में “न्यू डेल्ही डिक्लेरेशन ऑन एशियन राइनोज 2019” पर भारत, भूटान, नेपाल, इंडोनेशिया और मलेशिया ने हस्ताक्षर किये। इसका उद्देश्य गैंडे की प्रजाति की रक्षा तथा संरक्षण करना है। हाल ही में नई दिल्ली में द्वितीय एशियाई राइनो रेंज देशों की बैठक का आयोजन किया गया था। इस घोषणापत्र में एक सींग वाले गैंडे, जावा ततः सुमात्रा के गैंडों की जनसँख्या की समीक्षा प्रत्येक चार वर्ष बाद करने पर सहमती प्रकट की गयी।


Share


Add a Comment

Leave your suggestion for a better Service.
Name *

E-mail *




Comments


Like us on Fb

Advirtisement