Quiz : हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने सार्वजनिक परिवहन


Quiz : हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने सार्वजनिक परिवहन

2019-04-19 09:55:11


1. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वस्त्राल नामक स्थान पर “प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना” को लांच किया, वस्त्राल किस राज्य में स्थित है?
उत्तर – गुजरात
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात के गांधीनगर में वस्त्राल में प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना को लांच किया है। असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों व कामगारों के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना की घोषणा अंतरिम बजट 2019 में की गयी थी। इस मासिक पेंशन योजना के द्वारा असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को 60 वर्ष की आयु के बाद 3000 रुपये मासिक पेंशन प्रदान की जायेगी। इस योजना से देश में 10 करोड़ कामगारों को लाभ होगा।
2. हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने सार्वजनिक परिवहन में भुगतान के लिए कौन सा एकल कार्ड लांच किया?
उत्तर – नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल ही में नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (NCMC) लांच किया। इस कार्ड का उपयोग देश के सभी सार्वजनिक परिवहन माध्यमों में किया जा सकता है, इस कार्ड का उपयोग मेट्रो, बस, उपनगरीय रेलवे, टोल तथा पार्किंग के भुगतान के लिए किया जा सकता है, यह किसी क्रेडिट अथवा डेबिट कार्ड की भाँती कार्य करता है।
नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड
• नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड की परिकल्पना 2006 में राष्ट्रीय शहरी परिवहन नीति के तहत केन्द्रीय आवास व शहरी मामले मंत्रालय द्वारा की गयी थी।
• इस कार्ड को “एक देश – एक कार्ड” भी कहा जा रहा है, इस कार्ड की सहायता से लोग बस यात्रा के लिए किराया, टोल टैक्स, पार्किंग शुल्क, खरीददारी कर सकते हैं, इससे धनराशि भी निकाली जा सकती है।
• NCMC के लिए गेट व रीडर प्रोटोटाइप सरकारी इकाई भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड ने विकसित किया है।
• यह कार्ड सभी सार्वजनिक व निजी बैंकों को क्रेडिट, डेबिट व प्रीपेड कार्ड्स की भाँती जारी किये जायेंगे।
• इस कार्ड के बाद अब लोगों को बहुत सारे कार्ड्स ले जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, अब केवल एक ही कार्ड से शीघ्र ही भुगतान किया जा सकेगा।
• इसके लिए 31 जनवरी से दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन के साथ पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया था।
• CDAC, BEL, राष्ट्रीय भुगतान प्राधिकरण निगम (NPCI) तथा भारतीय स्टेट बैंक के सहयोग NCMC कार्ड के प्रथम स्तरीय ट्रायल सफल रहे थे।
• इस कार्ड को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी गुजरात यात्रा के दौरान लांच किया था।
3. BOLD-QIT प्रोजेक्ट को भारत की किस बॉर्डर पर लांच किया गया है?
उत्तर – भारत-बांग्लादेश
केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने BOLD-QIT (बॉर्डर इलेक्ट्रानिकली डोमिनेटिड QRT इंटरसेप्शन तकनीक) का उद्घाटन भारत-बांग्लादेश सीमा पर असम के धुबरी जिले में किया। यह प्रोजेक्ट विस्तृत एकीकृत सीमा प्रबंधन प्रणाली (CIBMS) का हिस्सा है। इस तकनीक का उपयोग इजराइल समेत कई देश करते हैं। यह सीमा प्रबंधन का एक कुशल तरीका है।
BOLD-QT प्रोजेक्ट से न केवल बॉर्डर सिक्यूरिटी फाॅर्स को सभी प्रकार के सीमा पार के अवैध व्यापार को रोकने में सहायता मिलेगी बल्कि सैनिकों को भी चौबीसों घंटे निगरानी करने से राहत मिलेगी। अब ब्रह्मपुत्र नदी का समस्त क्षेत्र माइक्रोवेव संचार, OFC केबल, DMR कम्युनिकेशन, दिन व रात कार्य करने वाले निगरानी कैमरे तथा घुसपैठ का पता लगाने वाले सिस्टम के नेटवर्क से सुरक्षित है। इन अत्याधुनिक तकनीकों की सहायता से BSF कण्ट्रोल रूम को सूचना प्राप्त होगी और BSF की क्विक रिएक्शन टीम सीमा में अवैध घुसपैठ अथवा अवैध व्यापार को रोक सकती है। BSF बांग्लादेश के साथ 4000 किलोमीटर की अंतर्राष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा का कार्य करती है।
4. हाल ही में किस राज्य ने शीरा (molasses) पर प्रतिबन्ध लगाया?
उत्तर – असम
हाल ही में असम के मुख्यमंत्री सर्बनंद सोनोवाल ने राज्य में शीरा (molasses) पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। दरअसल हाल ही में असम के दो जिलों – गोलाघाट और जोरहाट में ज़हरीली शराब पीने से 158 लोगों की मौत हो गयी थी। शीरा (molasses)का उपयोग “सुलाई” नामक मादक पेय के निर्माण में किया जाता है।
5. भगवान् महावीर अहिंसा पुरस्कार के पहले विजेता कौन हैं?
उत्तर –अभिनन्दन वर्तमान
भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनन्दन वर्तमान को पहले भगवान् महावीर अहिंसा पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा, इस पुरस्कार की स्थापना अखिल भारतीय दिगंबर जैन महासमिति ने की है।
इस पुरस्कार के विजेता को 2.51 लाख रुपये, मोमेंटो तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है। यह पुरस्कार विंग कमांडर अभिनन्दन को 17 अप्रैल को दिया जायेगा।
अभिनन्दन वर्तमान
विंग कमांडर अभिनन्दन भारतीय वायुसेना में कार्यरत्त हैं, वे हाल ही में सुर्ख़ियों में आये हैं। पुलवामा में आतंकी हमले के पश्चात् भारत ने पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों को नष्ट करने के लिए बालाकोट में एयरस्ट्राइक की थी। इस एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने जम्मू-कश्मीर में घुसपेठ करने का प्रयास किया। पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों को रोकने के लिए विंग कमांडर अभिनन्दन को मिग-21 लड़ाकू विमान में भेजा गया। विंग कमांडर अभिनन्दन ने बेहद पुराने मिग 21 लड़ाकू विमान से पाकिस्तान के आधुनिक लड़ाकू विमान F-16 को मार गिराया, इस दौरान अभिनन्दन भी दुर्घटना का शिकार हो गये और उनका विमान पाक-अधिकृत कश्मीर में जा गिरा। उन्हें पाकिस्तानी सेना द्वारा गिरफ्तार किया गया, परन्तु बाद में उन्हें भारत को सौंपा गया था।
6. हाल ही में किस भारतीय संगठन ने “युवा विज्ञानी कार्यक्रम” की शुरुआत स्कूली छात्रों के लिए की?
उत्तर – इसरो
हाल ही में भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (इसरो) ने युवा विज्ञानी कार्यक्रम लांच किया, इसका उद्देश्य छात्रों को अन्तरिक्ष टेक्नोलॉजी, अंतिरक्ष विज्ञान तथा उपयोग के आधारभूत पहलुओं से परिचित करवाना है।
युवा विज्ञानी कार्यक्रम
• युवा विज्ञानी कार्यक्रम के लिए इसरो देश भर से 100 छात्रों को चुनेगा और उन्हें सैटेलाइट निर्माण की व्यवहारिक प्रक्रिया के बारे में बताया जायेगा।
• इस कार्यक्रम के लिए प्रति वर्ष प्रत्येक राज्य/केंद्र शासित प्रदेश से तीन छात्रों को चुना जायेगा, इसमें सीबीएसई, ICSE तथा राज्य पाठ्यक्रम पर आधारित छात्रों को शैक्षणिक प्रदर्शन तथा अन्य गतिविधियों के आधार पर छात्रों का चयन किया जायेगा।
• युवा विज्ञानी कार्यक्रम में दो सप्ताह के आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। इसका आयोजन ग्रीष्मकालीन अवकाश के दौरान किया जायेगा। इसमें 8वीं पूरी कर चुके तथा 9वीं कक्षा में अध्ययन कर रहे छात्रों को चुना जायेगा।
• इन चुने हुए छात्रों को इसरो के केन्द्रों में ले जाया जायेगा तथा उन्हें वरिष्ठ वैज्ञानिकों के साथ वार्तालाप का अवसर मिलेगा।
• इस कार्यक्रम के लिए ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों को विशेष प्राथमिकता दी जाएगी। यात्रा तथा बोर्डिंग का सारा व्यय इसरो द्वारा उठाया जायेगा।
इसरो देश के विभिन्न भागों में 6 इन्क्यूबेशन सेंटर्स की स्थापना करेगा, यह केंद्र होंगे – उत्तरी, दक्षिण, पूर्व, पश्चिम, मध्य तथा उत्तर-पूर्व। इन केन्द्रों में छात्र भी अनुसन्धान व विकास कार्य कर सकेंगे। इसके तहत पहले केंद्र की स्थापना त्रिपुरा के अगरतला में की गयी थी।
7. किस भारतीय वैज्ञानिक को मिसाइल सिस्टम्स अवार्ड 2019 से सम्मानित किया गया?
उत्तर – डॉ. जी. सतीश रेड्डी
हाल ही में वैज्ञानिक व रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन (DRDO) के मुखिया जी. सतीश रेडी को अमेरिकन इंस्टिट्यूट ऑफ़ एरोनॉटिक्स एंड एस्ट्रोनॉटिक्स द्वारा मिसाइल सिस्टम अवार्ड से सम्मानित किया गया। सतीश रेड्डी ने यह पुरस्कार रेथियोन मिसाइल सिस्टम्स के प्रिंसिपल इंजीनियरिंग फेलो रोंडेल जे. विल्सन के साथ साझा किया गया। वे पिछले चार दशक में इस पुरस्कार को जीतने वाले पहले भारतीय तथा गैर-अमरीकी हैं।
सतीश रेड्डी
• सतीश रेड्डी रक्षा मंत्री के वैज्ञानिक सलाहकार हैं। उन्हें भारत में एडवांस्ड मिसाइल टेक्नोलॉजी तथा स्मार्ट गाइडेड हथियार तकनीक का निर्माता माना जाता है।
• सतीश रेड्डी देश के पहले 1000 किलोग्राम श्रेणी गाइडेड बम के डिजाईन व विकास के प्रोजेक्ट डायरेक्टर थे।
• सतीश रेड्डी रॉयल एयरोनॉटिकल सोसाइटी, लन्दन से सिल्वर मैडल प्राप्त करने वाले पहले भारतीय वैज्ञानिक हैं।
• सतीश रेड्डी ने कई मिसाइल सिस्टम जैसे हेलिना व नाग इत्यादि के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
अमेरिकन इंस्टिट्यूट ऑफ़ एरोनॉटिक्स एंड एस्ट्रोनॉटिक्स
अमेरिकन इंस्टिट्यूट ऑफ़ एरोनॉटिक्स एंड एस्ट्रोनॉटिक्स एयरोस्पेस इंजिनियर्स की व्यावसायिक सोसाइटी है। इसका उद्देश्य एयरोस्पेस की भूमिका व महत्व को रेखांकित करना है। मिसाइल सिस्टम अवार्ड मिसाइल सिस्टम टेक्नोलॉजी के विकास में महत्वपूर्ण नेतृत्व भूमिका निभाने के लिए प्रदान किया जाता है।
8. 2022 एशियाई खेलों में हाल ही में किस खेल को शामिल किया गया है?
उत्तर – क्रिकेट
एशियाई ओलिंपिक परिषद् ने 2022 में चीन के हांगझू में आयोजित किये जाने वाले एशियाई खेलों में क्रिकेट को शामिल किये जाने को मंज़ूरी दे दी है।
एशियाई खेलों में क्रिकेट
• इससे पहले एशियाई खेलों में क्रिकेट को 2010 तथा 2014 में शामिल किया गया था, परन्तु 2018 के एशियाई खेलों में क्रिकेट को शामिल नहीं किया गया था।
• एशियाई खेलों में 2010 तथा 2014 की भाँती टी-20 क्रिकेट संस्करण को शामिल किया जा सकता है।
• 2014 में श्रीलंका और पाकिस्तान ने पुरुषों व महिलाओं की श्रेणी में स्वर्ण पदक जीते थे, जबकि 2010 में बांग्लादेश और पाकिस्तान ने पुर्ष व महिला श्रेणी में स्वर्ण पदक जीते थे।
• भारतीय क्रिकेट टीम ने दोनों संस्करणों में हिस्सा नहीं लिया था।
इसके अतिरिक्त एशियाई ओलिंपिक समिति ने एशियाई खेलों में ओशिनिया देशों को भी भाग लेने के लिए आमंत्रित किया है, इन देशों में ऑस्ट्रेलिया भी शामिल है। ओशिनिया के खिलाड़ी केवल वॉलीबॉल, बीच वॉलीबॉल, बास्केटबॉल, सॉकर तथा फेंसिंग जैसे खेलों में हिस्सा ले सकते हैं।
एशियाई खेल
एशियाई खेलों में एशिया महाद्वीप के खिलाड़ी हिस्सा लेते हैं, इनका आयोजन प्रत्येक चार वर्ष बाद किया जाता है, एशियाई खेलों को एशियाड भी कहा जाता है। यह ओलिंपिक के बाद सबसे बड़ा बहु-खेल प्रतिस्पर्धा है। इसका आयोजन एशियाई ओलिंपिक परिषद् द्वारा 1982 से किया जा रहा है, उससे पहले एशियाई खेल संघ द्वारा इसका आयोजन किया जाता था। एशियाई खेलों का आयोजन पहली बार 1951 में नई दिल्ली में किया गया था। अब तक नौ देशों द्वारा इन खेलों का आयोजन किया जा चुका है। भारत ने एशियाई खेलों का आयोजन 1951 और 1982 में किया था।
9. अंतर्राष्ट्रीय वन्यजीव दिवस 2019 की थीम क्या है?
उत्तर – जल के नीचे जीवन : लोगों व गृह के लिए
3 मार्च को विश्व वन्य जीव दिवस मनाया गया, इसके थीम “जल के नीचे जीवन: लोगों व गृह के लिए” थी।
विश्व वन्यजीव दिवस 2019 के उद्देश्य
• विभिन्न किस्म की वनस्पति तथा जंतुओं फोकस करना।
• संरक्षण के लाभ के बारे में जागरूकता फैलाना।
• विश्व को वन्यजीव अपराधों के बारे में स्मरण करवाना तथा मानव के कारण प्रजातियों की संख्या कम होने के विरुद्ध कारवाई करना।
• वन्यजीव संरक्षण ततात विकास लक्ष्य का हिस्सा भी है, इसमें जैव-विविधता के नुकसान पर रोक लगाने की बात कही गयी है।
जल के नीचे जीवन : लोगों व गृह के लिए
विश्व वन्यजीव दिवस 2019 की थीम “जल के नीचे जीवन : लोगों व गृह के लिए” है। इसके द्वारा महासागरों तथा समुद्री संसाधनों का संरक्षण सतत विकास के लिए करना है। इसका वर्णन सतत विकास लक्ष्य के 14वें लक्ष्य में भी किया गया है।
पृष्ठभूमि
संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 20 दिसम्बर, 2013 को 68वें सत्र में 3 मार्च को विश्व वन्यजीव दिवस घोषित किया था। तीन मार्च को विलुप्तप्राय वन्यजीव व वनस्पति के व्यापार पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन (CITES) को स्वीकृत किया गया था।
10. टी बोर्ड का मुख्यालय कहाँ पर स्थित है?
उत्तर –कलकत्ता
केन्द्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय ने हाल ही पी.के. बेजबरुआ को पुनः टी बोर्ड के चेयरमैन नियुक्त किये जाने को मंज़ूरी दी। वे टी बोर्ड के पहले गैर-आईएएस चेयरमैन हैं।
टी बोर्ड
• 1903 में इंडियन टी सेस बिल पारित किया गया था, इस बिल के द्वारा चाय के निर्यात पर सेस लगाया गया था। इस सेस से प्राप्त होने वाली राशि का उपयोग भारत में चाय के संवर्धन के लिए किया जाता था।
• टी बोर्ड की स्थापना 1 अप्रैल, 1954 को चाय अधिनियम, 1953 के सेक्शन 4 के तहत की गयी थी।
• यह एक संवैधानिक संस्था है, यह बोर्ड केन्द्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय के अधीन कार्य करता है।
टी बोर्ड के कार्य
• यह चाय की खेती व मार्केटिंग के लिए वित्तीय तथा तकनीकी सहायता प्रदान करता है।
• निर्यात संवर्धन
• चाय के उत्पादन तथा गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए अनुसन्धान व विकास कार्य।
• चाय के छोटे व असंगठित उत्पादकों को वित्तीय व तकनीकी सहायता उपलब्ध करवाना।
• सांख्यिकी व आंकड़ों का एकत्रीकरण।


Share


Add a Comment

Leave your suggestion for a better Service.
Name *

E-mail *




Comments


Like us on Fb

Advirtisement